नए साल की भविष्यवाणी, अजीत भारती के द्वारा

नया साल आने वाला है. लोग रिजोल्युसंस लेंगे (फॉर द सेक ऑफ़ इट. भाई फेसबुक पर कुछ तो लिखना पड़ेगा न).

ख़ैर, मुझे पता है क्या होगा. कुछ नहीं होगा. जो बीयर पर हैं वो ब्रीज़र पर पहुंचेंगे, ब्रीज़र वाले दारू, और दारू वाले ज्यादा दारू पियेंगे.

दारूबाज लोग दारू पियेंगे, उन्हें मज़ा आएगा,
वो और दारू पियेंगे, उन्हें और मज़ा आएगा,
वो खूब दारू पियेंगे, उन्हें खूब मज़ा आएगा,
फिर उनमें इतना मज़ा भर जायेगा की वो औरों के लिए मजेदार हो जायेंगे.

स्मोकर्स वातावरण में ऑक्सीजन की मात्रा नियंत्रित करते रहेंगे और मंदिर जाकर (या मन ही मन) प्रार्थना करेंगे की इस बजट में सिगरेट का दाम फिर न बढे.

जो लड़के फ्लर्ट हैं वो जर्क हो जायेंगे, जर्क लड़के चीप हो जायेंगे और चीप लोग इस साल फ्री हो जायेंगे.

राशी-वाशी देखने का कोई फायदा है नहीं! जैसा करोगे वैसा मिलेगा. लाल वस्त्र लक्की हो सकता है लेकिन सांढ़ के आगे न पहने तो अच्छा है. नाम में अक्षर बदलने से कुछ नहीं होने वाला, अपना काम ढंग से करते रहो. और हाँ, मन ही मन राम राम बुदबुदाते रहिये (बस अड्डे के पास वाले मंदिर के बोर्ड और कई बसों के खिडकियों पर चिपके स्टीकर में ऐसा कहा गया है.)

बाकी आपको पता है ही, पढाई से ज्यादा ध्यान प्रेम पर दिया तो उल्लू बनोगे (इसी जनम में).

सेक्सी कन्याएं खुद को पहले एक महीने पूरे कपडे पहन कर गर्म रखे और बाकी दुनिया को परोपकार के लिए गर्म रखने की बात पर ज्यादा ध्यान न दें.

नाकाबिले बर्दास्त और अत्यंत ही लुभावने फेसबुक स्टेटस के लिए अथक प्रयास जारी रहेगा और हमारे जेनेरेशन का निकम्मापन बढ़ता रहा तो मार्च तक फेसबुक पर एक अरब (अबे अरब देश का नागरिक नहीं, मैं एक बिलीयन की बात कर रहा हूँ) लोग टाइम पास करने लगेंगे.

बाकी आपको पता है ही, गायें बछड़ा और लोग ‘प्याले प्याले’ क्यूट क्यूट बेबी पैदा करते रहेंगे.

वैसे सम्भावना है की दिसम्बर में दुनिया ख़तम हो जाये वैसे रजनीकांत ने नया लेपटोप तो लिया है जिसकी वारंटी 2014 तक है लेकिन फिर भी कुछ कहा नहीं जा सकता.

प्राकृतिक विपदाएं आती रहेंगी. कुछ भूकंप, साय्क्लोन, बाढ़ इत्यादि का आना जाना लगा रहेगा.

सचिन का सौवां शतक लगने की प्रबल सम्भावना है. दिल्ली के खालिहरों के लिए अगस्त में कोई नया तमाशा नहीं होगा इसिलए अपनी प्लानिंग उसी हिसाब से करें.

घोटाले, संसद में बेहूदगी, मीडिया का नंगापन एज यूजुअल चलेगा, इसमें कोई बदलाव की गुंजाइश नहीं है.

आम जनता पागल बनती रहेगी और धीरे धीरे 2013 आ जायेगा.

Advertisements

One thought on “नए साल की भविष्यवाणी, अजीत भारती के द्वारा

Did you like the post, how about giving your views...

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s